उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने अपनी गाड़ी से हटाई लाल बत्ती

0
410

देहरादून : मोदी सरकार द्वारा लाल बत्तियों पर लिया गए ऐतिहासिक फैसले का असर उत्तराखंड में भी दिखने लगा है। केन्द्र सरकार के फैसले का अनुसरण करते हुए गुरुवार को उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अपनी सरकारी गाड़ी से लाल बत्ती हटवा दी।

त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने गुरूवार को ट्वीटर पर ट्वीट कर लिखा, ‘लालबत्ती कल्चर को समाप्त करने के लिए हमारी सरकार प्रतिबद्ध है और इसी क्रम में मेरी गाड़ी में आज से लाल बत्ती हटा दी गयी है।

 

गौरतलब है कि वीवीआईपी कल्चर को समाप्त करने के लिए मोदी कैबिनेट द्वारा एक मई से लालबत्ती की व्यवस्था को समाप्त करने के ऐलान के बाद सूबे के मंत्रियों में लालबत्ती उतारने की होड़ सी लग गई है।

केंद्रीय कैबिनेट के फैसले की जानकारी मिलते ही प्रदेश के वन मंत्री डॉ. हरक सिंह रावत ने सरकारी वाहन पर लगी लाल बत्ती उतार दी। इसके बाद प्रदेश के वित्त मंत्री प्रकाश पंत, परिवहन मंत्री यशपाल आर्य ने भी लाल बत्ती उतार दी।

सहकारिता राज्यमंत्री डॉ. धन सिंह ने रावत ने बताया कि उन्होंने भी लाल बत्ती उतार दी है। शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने बुधवार की रात बताया किया उन्होंने ने भी लाल बत्ती उतार दी है।

मोदी सरकार ने वीआईपी कल्चर के खिलाफ बड़ा और ऐतिहासिक निर्णय लिया है। आने वाले एक मई अर्थात् मजदूर दिवस के दिन से देश में राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मुख्य न्यायाधीश समेत कोई भी लाल बत्ती का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे।

इसके दायरे में केंद्रीय मंत्री, मुख्यमंत्री और अधिकारी भी आएंगे। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने लाल बत्ती देने के नियम को ही खत्म कर दिया है। आपात सेवाओं से जुड़े एंबुलेंस, फायर ब्रिगेड और पुलिस भी नीली बत्ती का ही इस्तेमाल कर पाएंगे।

loading...
Previous articleपंद्रह दरोगा और पांच इंस्पेक्टर के तबादले
Next articleकाश ! यात्रियों की बात मान लेता बस चालक

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here