वसंत पंचमी पर ऐसे बनाएं बेहतरीन स्वाद वाले पीले मीठे चावल

0
54

वसंत का मौसम आते ही खिल उठती है प्रकृति। चारों ओर रंग-बिरंगे फूल खिल उठते हैं, खिल उठती है हरियाली और महकने लगता है वातावरण। ऐसे मौसम में ऊर्जा और ताज़गी का एहसास कराता है पीला रंग। वसंत पंचमी पर भी पीले चावलों का बहुत महत्त्व है। इनके बिना बसंत पंचमी की पूजा भी पूरी नहीं होती और स्वाद भी अधूरा रह जाता है। अगर आपको पीले चावल बनाना नहीं आता या देरी और झंझट का काम लगता है तो हम बताते हैं आपको झटपट पीले मीठे चावल बनाने की रेसिपी।

पीले मीठे चावल बनाने की सामग्री
बासमती चावल – 1 कप, चीनी – 3 /4 कप, देशी घी – 2 चम्मच, पानी – 5 -6 कप, तेजपत्ता – 1 पीस, लौंग – 2 पीस, साबुत हरी इलायची – 5 पीस, बादाम कटे हुए – 1 चम्मच, काजू कटे हुए – 1 चम्मच, हरी इलायची – 4 पीस, केसर – 15 पत्ती ( लगभग ), पीला रंग ( खाने वाला ) – एक चुटकी

पीले मीठे चावल बनाने की विधि
बासमती चावल को धोकर आधे घण्टे के लिए भिगों दें। केसर को आधी कटोरी दूध में भिगो कर घोट लें व इसमें पीला रंग डाल भी मिला दें। 2 इलायची छीलकर पीस लें। काजू और बादाम को काट कर टुकड़े कर लें। एक भारी तले वाले बर्तन में आधा चम्मच घी डालकर गर्म करें। इसमें तेजपत्ता , लौंग व 2 हरी इलायची डालें। इसमें भीगे हुए चावल डालकर दो मिनिट भूने अब इसमें पानी डालकर चावल पकने तक उबाल ले। चावल पकने पर छानकर अतिरिक्त पानी निकाल दें और चावल ठंडे होने के लिए अलग रख दें। एक कढ़ाई या नॉन स्टिक पैन में डेढ़ चम्मच घी डालकर गर्म करे। इसमें धीमी आंच पर काजू गुलाबी होने तक फ्राई करके एक प्लेट में निकाल लें। काजू तलकर निकालने के बाद इस कढ़ाई में चावल डालें फिर शक्कर भी डाल दें। तैयार केसर और रंग का मिश्रण इसमें मिला दें। शक्कर डालते ही चाशनी बनने लगती हैं गैस तेज करके हल्के हाथ से चावल को हिलाते हुए चाशनी का पानी सूखा लें। पिसी इलायची , काजू , बादाम मिला दें। खिले खिले पीले मीठे चावल तैयार है। इन्हें प्लेट में डालकर थोड़े मेवे डालकर सर्व करें।
पीले मीठे चावल बनाते समय ध्यान रखने योग्य बातें
चावल गलने ज्यादा गलने नहीं चाहिए। थोड़े से खड़े व खुले खुले पकाना ठीक रहता है। चावल उबालकर ठंडे करने के बाद मीठे चावल बनाते है तो खिले खिले बनते हैं। काजू तलते समय तुरन्त जल जाते हैं इसीलिए ध्यान पूर्वक घीमी आंच पर तले। यदि आप रंग नहीं मिलाना चाहें तो केसर की मात्रा बढ़ा दें

loading...
Previous articleघर में सो रहा था परिवार तभी दीवार तोड़कर अंदर घुसा ट्रक
Next articleअवैध निर्माण के खिलाफ तेज हुई कारवाई, आठ निर्माण सील, 2 किये ध्वस्त

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here