देवभूमि में नाबालिग बच्ची से गैंगरेप, हत्या कर पुल पर फेंका शव

0
11

देवभूमि उत्तराखंड में शर्मसार करने वाली घटना सामने आई हैं। उत्तरकाशी के एक गांव की नाबालिग बच्ची के साथ हैवानों ने पहले गैंगरेप किया और फिर हत्या कर शव पुल पर फेंक दिया। शनिवार तड़के ग्रामीणों का नाबालिग का शव एक मोटर पुल के पास पड़ा मिला।

जानकारी के अनुसार शुक्रवार देर रात  एक 12 वर्षीय बच्ची अपने घर में सो रही थी। इस बीच कुछ अज्ञात लोगों ने घर की बिजली की लाइन काटकर उसका अपहरण कर लिया। घटना के वक्त बच्ची की बड़ी दीदी रिश्तेदारी में गई हुई थी और घर में माता-पिता थे। बच्ची की मां मानसिक रूप से कमजोर है, जबकि पिता को सुनाई नहीं देता है, जिससे घर में अज्ञात लोगों के आने और बच्ची के ले जाने की उनको भनक नहीं लग पाई।

शनिवार सुबह पांच बजे गांव के लोग देवीधार-रनाड़ी मोटर मार्ग से गुजर रहे थे, तो उन्हें बच्ची का क्षत-विछत शव दिखा। बच्ची के पूरे शरीर पर जख्मों के निशान थे। इससे आक्रोशित ग्रामीण बच्ची के शव के साथ पुल पर ही जाम लगाकर धरने पर बैठ गए। ग्रामीणों ने एक स्वर में आरोपियों को जनता के हवाले करने की मांग की। बच्ची का शव मिलने से हड़कंप मच गया। सूचना के बाद राजस्व पुलिस के पहुंचने पर गुस्साए गांव वालों ने जमकर हंगामा किया। तनाव के माहौल को देखते हुए क्षेत्र में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है।

बताया जा रहा है कि मजदूर गांव के पास ही काम करते थे और शुक्रवार को अपना हिसाब लेकर शनिवार तड़के गांव चले गए। यह मजदूर गांव के ही एक टैक्सी चालक की टैक्सी बुक कराकर ले गए। आरोप पर पुलिस ने उत्तरकाशी-देहरादून मोटर मार्ग के सभी थाने-चौकी एवं बैरियरों को अलर्ट कर दिया। टिहरी पुलिस ने थत्यूड़ के पास से पांचों मजदूरों को हिरासत में ले लिया है। हालांकि अभी तक पुलिस की पूछताछ में ये मजदूर आरोपों से इनकार कर रहे हैं। यही कारण है कि पुलिस ने अभी इनके खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं किया है। साथ ही उत्तरकाशी में जनाक्रोश को देखते हुए आरोपियों को उत्तरकाशी भी नहीं लाया जा रहा है। हालांकि अब घटना स्थल से कुछ साक्ष्य जुटाकर पुलिस की एक विशेष टीम सघन पूछताछ के लिए टिहरी रवाना हो गई है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here