उत्तराखंड के इस गांव में 15 अगस्त को तिरंगा फहराएंगे सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत

0
10
उत्तराखंड के इस गांव में 15 अगस्त को तिरंगा फहराएंगे सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत

उत्तराखंड का एक ऐसा गांव है, जहां पांच दिन बाद पता चला था कि देश आजाद हो गया है लेकिन हर साल यहां 15 अगस्त लोकपर्व के रुप में मनाया जाता है। इस बार इस गांव का स्वतंत्रता दिवस और भी खास होने जा रहा है क्योंकि खुद उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत यहां झंड़ा फहराएंगे। मुख्यमंत्री ने ये फैसला बद्रीनाथ के विधायक महेन्द्र भट्ट के आग्रह पर लिया।

ये गांव चमोली जिले के बाराहोती के नजदीक है, जिसका नाम है गमशाली। आपको बता दें कि गमशाली राज्य का दूरस्थ गांव हैं। वैसे इस पूरे क्षेत्र को नीति घाटी भी कहा जाता है। ये गांव भारत और चीन की सीमा से भी लगा हुआ है। हालांकि यहां की जनसंख्या बहुत कम है लेकिन लोग हर साल बहुत ही उल्लास के साथ 15 अगस्त मनाते हैं। यहां की आजादी का जश्न देखने दूर – दूर से पर्यटक आते हैं।

यहां लगता है आजादी का मेला

इस गांव में 15 अगस्त महज एक राष्ट्रीय पर्व की तरह नहीं बल्कि लोकपर्व की तरह मनाया जाता है। सभी लोग पारम्परित वेशभूषा में परेड़ निकालते हैं। गाना गाते हैं और नृत्य करते हैं। पहले इस गांव में एक प्राथमिक स्कूल हुआ करता था, तब स्कूल की समिति ही कार्यक्रम का आयोजन करती थी लेकिन अब जनसंख्या कम होने के कारण प्राथिमक स्कूल बंद हो चुका है। इसलिए ग्रामीण खुद ही आजादी का जश्न मनाने का कार्यक्रम आयोजित करते हैं। इस दिन सम्पूर्ण घाटी के लोग परम्परागत वेशभूषा धारण कर घरो में आजादी के दिये जलातें हैं साथ ही तरह तरह के पकवान भी बनाते हैं इसके अलावा परम्परागत गीत नृत्यों में रम जाते हैं 15 अगस्त को सुबह नीति गांव, गमशाली, फरकिया, व बाम्पा के ग्रामीण ढोलों की थापों के साथ झांकियो के रूप में बारी बारी से गमशाली गांव के दुम्फूधार में एकत्रित होतें है। प्रत्येक गांव की अपनी अलग वेशभूषा , झांकी होती है जिसमें देशभक्ति को दर्शाया जाता है प्रत्येक गांव के नवयुवक मंगल दल, महिला मंगल दल, विशेष रूप से इसमें प्रतिभाग करते है। जब सारे गांव की झांकिया दुफूंधार में पहुंचती है तो वहां पर मुख्य अतिथि द्वारा झण्डारोहण किया जाता है जिसके पश्चात प्रत्येक गांव द्वारा रंगारंग कार्यक्रम, गीत, नाटक, हास्य नाटक, इत्यादि का प्रस्तुतीकरण किया जाता है तत्पश्चात पारितोषक व मिठाई वितरण का कार्यक्रम किया जाता है ।

 

माना जा रहा है कि इस बार सीएम के आने से  वहां लगने वाले स्वतंत्रता दिवस मेले को विशेष मेले का का दर्जा मिल सकता है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here