जब तिमुडिया वीर ने एक बकरा, एक कुन्तल चावल व गुड खाया तो नतमस्तक हुए श्रद्धालु

0
70

उत्तराखंड को देवभूमि ऐसे ही नहीं कहा जाता है, यहां कण – कण में भगवान का वास है। उत्तराखंड में चारधाम यात्रा शुरू हो चुकी है और हर साल की तरह श्री बदरीनाथ धाम की यात्रा को निर्विघ्न संपन्न कराने के लिए हर वर्ष बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने से पहले मंगलवार या शनिवार को तिमुंडिया मेले का आयोजन होता है।

 

शनिवार को मेले में तिमुंडिया के पश्वा ने घूम-घूमकर एक बकरा, चावल, गुड़ खाया और पानी पिया। तिमुंडिया को नवदुर्गा का वीर माना जाता है।

 

सभी फोटो साभार : Nitin Semwal के फेसबुक वॉल से..

जोशीमठ के नृसिंह मंदिर परिसर में आयोजित तिमुंडिया मेले में जब देवता के पश्वा ने नृत्य करते हुए बकरा, चावल और गुड़ खाना शुरू किया तो उसे इतना खाना खाते देख श्रद्धालु हैरान रह गए। सब पश्वा के सामने नतमस्तक हो गए और मनौती मांगने लगे। पश्वा के इस चमत्कार के साक्षी स्थानीय के अलावा विदेशी श्रद्धालु भी बने ।

देव पुजाई समिति के तत्वावधान में आयोजित इस मेले के साक्षी सैकड़ों स्थानीय श्रद्धालुओं के अलावा विदेशी मेहमान भी बने। कार्यक्रम के तहत नवदुर्गा मां, चंडिका मां, भुवनेश्वरी, तिमुंडिया व दाणी देवता के पश्वा को गाजे-बाजे के साथ नृसिंह मंदिर प्रांगण में लाया गया। नवदुर्गा मां के गर्भगृह से मां की शक्ति को बाहर निकाला गया। सभी देवी-देवताओं ने अपने पश्वा पर अवतरित होकर मां की शक्ति के प्रतीक आवाम को पकड़कर नृत्य किया।

 

 

 

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here