किडनी खरीद-फरोख्त कांड : धरे गए तीन और आरोपी

0
8
किडनी खरीद फरोख्त कांड : पकड़े गए तीनो आरोपी

चर्चित किडनी खरीद-फरोख्त कांड में तीन और आरोपियों की गिरफ्तारी हो गई है। बीते रोज पुलिस ने किडनी रैकेट के सरगना डाक्टर अमित के करीबी जगदीश भाई, गंगोत्री चैरिटेबल अस्पताल के संचालक राजीव चौधरी की पत्नी अनुपमा तथा मेडिकल स्टोर संचालक अभिषेक शर्मा को गिरफ्तार किया। गिरफ्तार करने के बाद तीनों को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया। डाक्टर अमित का बेटा अक्षय, राजीव चौधरी और इस रैकेट से जुड़ा बताया जा रहा देहरादून का एक प्रापर्टी अशोक जोगी अभी भी फरार चल रहे हैं। पुलिस इन तीनों की जोरशोर से तलाश कर रही है।

तीनों की गिरफ्तारी के बाद एसआईटी प्रभारी और एसपी देहात सरिता डोबाल ने बताया कि गिरफ्तार की गई महिला अनुपमा अपने पति राजीव चौधरी के साथ मिल कर गंगोत्री चेरिटेबल अस्पताल का संचालन करती थी। पुलिस के मुताबिक इस रैकेट की अहम सदस्य अर्चना के बैंक खाते से ही सर्जरी के लिए खरीदी जाने वाली दवाओं का भुगतान किया जाता था। हालांकि पकड़े जाने के बाद अर्चना ने खुद को बेकसूर बताते हुए कहा कि उसे इस बारे में कुछ भी जानकारी नहीं है।

गिरफ्तार किया गया दूसरा आरोपी जगदीश भाई, मुख्य आरोपी डाक्टर अमित का बेहद करीबी है। पुलिस के मुताबिक सूरत, गुजरात का रहने वाला जगदीश कई मरीजों को अस्पताल लेकर आया था। पकड़े गए तीसरे व्यक्ति अभिषेक शर्मा पर आरोप है कि उसने किडनी रैकेट के खुलासे के बाद अस्पताल संचालक राजीव चौधरी को अपनी कार देकर भगाने में मदद की।

इस मामले में पुलिस अब तक आठ लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। दो दिन पहले ही दून पुलिस ने सरगना डाक्टर अमित राउत, उसके भाई जीवन और एक नर्स को पंचकूला से गिरफ्तार किया था।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here