एसआईटी जांच में सहयोग न करने पर हरिद्वार के सीईओ निलंबित

0
62
demo pic

शिक्षकों के फर्जी प्रमाणपत्रों की जांच कर रही एसआईटी को सहयोग नहीं करने के आरोप में प्रदेश के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने हरिद्वार जिले के मुख्य शिक्षा अधिकारी आरडी शर्मा को निलंबित करने का फरमान सुना दिया। आरडी शर्मा पर आरोप है कि वे एसआईटी को जांज के लिए जरूरी दस्तावेज मुहैया कराने में हीलाहवाली कर रहे थे। इस बात से नाराज शिक्षामंत्री ने प्रभारी  शिक्षा सचिव चंद्रशेखर भट्ट को निर्देश देते हुए फैरन शर्मा को निलंबत करने को कहा। नाराज शिक्षामंत्री ने यह भी कहा है कि शिक्षकों की सर्विस बुक के रखरखाव में लापरवाही बरतने वाले कार्मिकों को चिह्नित कर उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई जाएगी।

गौरतलब है कि फर्जी प्रमाणपत्रों के जरिए उत्तराखंड में नौकरी कर रहे शिक्षकों के बारे में मिली शिकायतों की जांच के लिए राज्य सरकार द्वारा एसआईटी गठित की गई है। एसआइटी को  शिक्षा विभाग की तरफ से पूरा सहयोग नहीं मिलने की बात पहले दिन से ही सामने आ रही है। सबसे ज्यादा शिकायत हरिद्वार जिले को लेकर बताई जा रही है। जिले में शिक्षकों के प्रमाणपत्रों और अन्य जरूरी अभिलेख नहीं मिलने का मामला जब शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय की विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक में भी उठा तो मंत्री जी ने फैरन मुख्य शिक्षा अधिकारी को निलंबित करने के निर्देश दे दिए। इसके साथ ही उन्होंने महकमे के अन्य लापरवाह कार्मिकों के खिलाफ भी सख्त कार्रवाई करने की बात कही। शिक्षा मंत्री ने कहा कि फर्जी प्रमाणपत्रों  के सहारे नियुक्त हुए शिक्षकों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here