समुद्री सफर से विश्व परिक्रमा के लिए रवाना हुईं उत्तराखंड की दो जांबाज बेटियां

0
239
फोटो साभार : ट्विवर

उत्तराखंड की दो जांबांज बेटियां लेफ्टिनेंट कमांडर वर्तिका जोशी और पायल गुप्ता भारतीय नौसेना के बेहद महत्वपूर्ण मिशन ‘नाविक सागर परिक्रमा’ के लिए रवाना हो गई हैं। नौसेना के छह सदस्सीय नाविक दल की सदस्य ये दो बेटियां, अगले छह महीने में लगभग 22 हजार नाटिकल मील की  समुद्री दूरी नापते हुए पृथ्वी का चक्कर पूरा करेंगी। नाविक सागर परिक्रमा नामक यह मिशन 17 मीटर लंबाई वाली नौका ‘आईएसएनवी तारिणी’ में सवार होकर पूरा किया जाएगा। यह नौका पूरे सफर में चार बंदरगाहों पर इंधन भरने के लिए रुकेगी। आज दोपहर लगभग ढाई बजे रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने हरी झंडी दिखा कर इस दल को रवाना किया।

महत्वपूर्ण बात यह है कि इस दल का नेतृत्व उत्तराखंड की बेटी वर्तिका जोशी कर करी हैं। वर्तिका ने बताया कि यह अभियान गोआ से शुरू होगा और आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, फाकलैंड होते हुए वापस गोआ पहुंच कर पूरा होगा। छह सदस्सीय टीम में प्रदेश की दो बेटियों का शामिल होना उत्तराखंड के लिए वाकई में गौरव का विषय है। इस टीम में वर्तिका और पायल के अलावा लेफ्टिनेंट कमांडर प्रतिभा जामवाल, पी स्वाति , लेफ्टिनेंट एस विजया देवी और बी ऐश्वर्या शामिल हैं। कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इन सभी छह जाबांजों से मुलाकात कर उन्हें बधाई और शुभकामनाएं दी थी।

वर्तिका ऋषिकेश और पायल देहरादून की हैं निवासी-

लेफ्टिनेंट कमांडर वर्तिका जोशी तीर्थनगरी ऋषिकेश की रहने वाली हैं। उनकी स्कूली शिक्षा श्रीनगर और ऋषिकेश में हुई।  वर्तिका के पिता  डाक्टर पीके जोशी श्रीनगर स्थित हेमवती नंदन बहुगुणा केंद्रीय विश्वविद्यालय में प्रोफेसर तथा माता अल्पना जोशी राजकीय महाविद्यालय ऋषिकेश में प्रवक्ता हैं। आईआईटी दिल्ली से एमटेक  वर्तिका  2010 में वर्तिका नौसेना में अधिकारी बनीं। वह इससे पहले ब्राजील के रियो डि जिनोरियो से दक्षिण अफ्रीका के केपटाउन तक पांच हजार नॉटिकल मील का समुद्री अभियान भी तय कर चुकी हैं।

पायल गुप्ता की बात करें तो वे देहरादून के रेसकोर्स की रहने वाली हैं। उनके पिता विनोद गुप्ता व्यवसायी तथा माता नीलम गृहणी हैं। देहरादून के कारमन स्कूल से प्रारंभिक शिक्षा हासिल करने के बाद उन्होंने देहरादून से की बीटेक किया और इसके बाद नौसेना में नियुक्ति हासिल की।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here