जनरल विपिन रावत बोले :  खुले हैं सर्जिकल स्ट्राइक के विकल्प

0
101
जनरल विपिन रावत : फाइल फोटो

थल सेना अध्यक्ष जनरल विपिन रावत ने देश की सेना को हर चुनौती से निपटने में सक्षम बताते हुए कहा है कि सेना के पास सर्जिकल स्ट्राइक के सारे विकल्प खुले हैं। उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर सेना फिर से सर्जिकल स्ट्राइक करने से पीछे नहीं हटेगी। देहरादून पहुंचे सेनाध्यक्ष ने यह भी कहा कि सीमा पार से हो रही आतंकी गतिविधियों का इधर से पूरा जवाब दिया जा रहा है।

जनरल रावत बीते रोज देहरादून के गढीकैंट स्थित कैम्ब्रियन हाल स्कूल के स्थापना दिवस समारोह में शामिल होने बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे थे। कैम्ब्रियन हाल स्कूल से ही जनरल रावत ने अपनी शुरुआती पढाई पूरी की है। अपने पुराने स्कूल पहुंच कर उन्होंने अपने स्कूली दिनों की यादें भी साझा कीं।

जनरल रावत ने इस अवसर पर कहा कि जम्मू-कश्मीर में हालिया दिनों में सेना पर हुए हमलों के बाद सेना ने अपना रवैया और कड़ा किया है। उन्होंने कहा कि जब तक घाटी में सैनिकों पर हमले नहीं रुकेंगे, सेना की सख्ती बरकरार रहेगी। जनरल रावत ने कहा कि घाटी के मौजूदा हालात से पूरा देश वाकिफ है। उन्होंने जोर देकर कहा कि आतंकियों का खात्मा करने के लिए यदि सर्जिकल स्ट्राइक जैसी बड़ी कार्रवाई की जरूरत पड़ेगी तो सेना इससे पीछे नहीं हटेगी।

चीन के साथ  चल रहे डोकलाम सीमा विवाद को लेकर उन्होंने कहा कि मजबूत राजनीतिक इच्छाशक्ति तथा सेना द्वारा दिखाई गई  सख्ती का ही नतीजा है कि गतिरोध काफी हद तक कम हो गया है। उन्होंने साथ ही यह भी कहा कि भारतीय सेना चीन और पाक सीमा पर दोहरी चुनौतियों से निपटने में पूरी तरह सक्षम है।

सेना को पूर्णकालिक रक्षामंत्री मिलने पर जनरल रावत ने खुशी जताई और कहा कि अब सेना और बेहतर तरीके से अपना काम करेगी।स्कूल पहुंचने से पहले जनरल रावत ने क्लेमनटाउन में 14-इंफेंट्री की एक अहम बैठक भी ली। बताया जा रहा है कि इस बैठक में उत्तराखंड से लगी चीन सीमा पर राज्य के मोर्चे को लेकर चर्चा हुई।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here