श्रीनगर में घटी यह घटना मातृत्व की महान भावना को शर्मसार करने वाली है।

0
1065
नर्स की गोद में नवजात बच्ची

चार दिन पहले प्रदेश के पौड़ी जिले के श्रीनगर स्थित बेस अस्पताल में एक ऐसी घटना सामने आई जिसने मातृत्व की महान भावना को भी शर्मसार कर दिया। एक मां ने अस्पताल के नेटल इंसेंटिव केयर यूनिट (एनआईसीयू) के शौचालय में बच्ची को जन्म दिया और उसे वहीं तड़पता छोड़ कर गायब हो गई। अस्पताल प्रशासन को इस घटना का पता तब चला जब एक नर्स को बच्ची के चिल्लाने की आवाज सुनाई दी। खून से लथपथ बच्ची को देख नर्स समझ गई कि उसका जन्म कुछ ही समय पहले हुआ है।

बच्ची फिलहाल अस्पताल प्रशासन की देखरेख में स्वस्थ एवं सुरक्षित है, मगर सांस्कृतिक एवं शैक्षिक लिहाज से बेहद समृद्ध माने जाने वाले श्रीनगर में हुई इस घटना ने सभी को अंदर तक हिला कर रख दिया है। हर किसी के मन में यही बात चल रही है कि आखिर संवेदनशील माने जाने वाले पहाड़ की कोई मां कैसे इतनी अमानवीय हो सकती है कि अपनी नवजात बच्ची को शौचालय में जन्म देकर गायब हो जाए?

बहुत से लोगों का यह भी मानना है कि जिस महिला ने इस बच्ची को जन्म दिया वह बिन व्याही भी हो सकती है, और लोकलाज के चलते उसने ऐसा किया होगा। मगर सवाल यहां मातृत्व की उस भावना का है जो किसी महिला के मां बनते ही नैसर्गिक रूप से उसके मन में घर कर जाता है। सवाल यह भी है कि आज के इस दौर में जब तमाम जागरूकता कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं, तब इस तरह की घटनाएं क्यों सामने आ रही हैं?

इस पूरी घटना के भावनात्मक पहलुओं से इतर एक बड़ा सवाल अस्पताल प्रशासन की जवाबदेही का भी है। इस घटना को हुए चार दिन बीत जाने के बाद भी बच्ची की मां का पता नहीं लग पाया है। सवाल यह है कि आखिर इतने बड़े अस्पताल में कैसे एक महिला सबको चकमा देकर भागने में कामयाब हो गई? क्या इसे बड़ी चूक नहीं माना जाना चाहिए। सुरक्षा के लिहाज से भी देखें तो यह वाकया अपने आप में अस्पताल प्रशासन की उदासीनता और लापरवाही को उजागर करने वाला है। इस घटना से सबक लेकर अस्पलात प्रशासन ने इन चार दिनों में शायद ही कोई ठोस कदम उठाए होंगे।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here