भूस्‍खलन के कारण बद्रीनाथ हाईवे हुआ बंद, यात्रियों की परेशानी बढ़ी

0
69
उत्तराखंड में भारी बारिश के कारण बद्रीनाथ राजमार्ग एक बार फिर बंद हो गया है. राज्य में लगातार बारिश ने लोगो की मुश्किलों को बढ़ा दिया है. जगह-जगह मार्गों पर लोग फंस रहे हैं तो कहीं बारिश के कारण यात्रियों को घटों जाम में फंसना पड़ रहा है. इसी बीच बद्रीनाथ हाईवे पर भारी मालवा जमा होने के कारण उसे अब तक खोला नहीं गया है. बदरीनाथ धाम के दर्शन करने आए यात्रियों को मूसलाधार बारिश के कारण बहुत मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है.
आपको बता दें कि यात्रियों की मुसीबतें बढ़ती जा रही है. भारी बारिश होने की वजह से सड़क पर भारी मालवा एकत्र हो गया है. बदरीनाथ राजमार्ग कौडियाला के पास कल चट्टान टूटने से बंद हो गया था. जिसके बाद उसे अब तक खोला नहीं गया है. जानकारी के मुताबिक कहा जा रहा था कि हाईवे को 5 घंटे में खोल दिया जाएगा, लेकिन लोगो की परेशानी तब बढ़ गयी जब शाम से इलाके में फिर बारिश होने लगी.
वहीँ रास्ता बंद होने के बाद दोनों तरफ की गाड़ियों की कतार लग गई. जिसकी वजह से लोगो की दिक्कतें बढ़ गई. बीआरओ लगातार जेएसीबी से मार्ग खोलने की कोशिश कर रही है लेकिन यहां हो रही बारिश मार्ग को खोलने ही नहीं दे रही है. बताया जा रहा है कि यहाँ लगभग 300 से ज़्यादा यात्री कल से अपनी-अपनी गाड़ियों के साथ यहां फंसे हुए हैं.
इस बीच, बदरीनाथ धाम के आसपास की पहाडिय़ों पर सीजन का पहला हिमपात भी हुआ. पौड़ी में एक एक मकान के भूस्खलन की चपेट में आने की आशंका के चलते परिवार के लोगो को सुरक्षित जगह पर भेज दिया गया है. यहां पौड़ी-कोटद्वार मार्ग तीन घंटे बाधित रहा. मौसम विभाग ने राज्य में अगले 24 घंटे में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना जताई है.
इन दिनों श्री बदरीनाथ धाम के सद्गुरु आश्रम, शांति निकेतन, ग्वालियर भवन, काशी मठ समेत अन्य स्थानों पर भागवत कथा, शिव पुराण कथाओं का आयोजन चल रहा है. जिसके चलते यहाँ भारी संख्या में श्रद्धालु दर्शन के लिए आते है. तकरीबन 1000 यात्री, पांडुकेश्वर व गोविंदघाट में और 600 यात्री लामबगड़ में रुके हैं. कुमाऊं मंडल में पिथौरागढ, अल्मोडा और नैनीताल जिले के कई जगहों पर रुक-रुक कर बारिश होती रही. लेकिन अब बहुत से यात्री पैदल ही बदरीनाथ धाम के लिए निकल चुके है.
Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here