भारत के 14वें राष्ट्रपति निर्वाचित हुए रामनाथ कोविंद

0
50
  • बड़े अंतर से जीता चुनाव

रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति पद का चुनाव जीत गए है । वह भारत के 14 वें राष्ट्रपति है।  रामनाथ कोविंद ने 702044 के भरी मतों से जीत हासिल की है , वहीं मीरा कुमार 367314 मत हासिल हुए।

उन्होंने भरी अंतर से विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार को पराजित किया । रामनाथ कोविंद को राष्ट्रपति निर्वाचित होने पर देशभर से बधाईयाँ मिल रही है। उनकी जीत के बाद सत्ताधारी NDA के खेमे में ख़ुशी का माहौल है ।

जानिए, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के बारे में ये खास बातें:

  • उत्तर प्रदेश से बीजेपी के दलित नेता

  • दो बार राज्यसभा के सदस्य रहे

  • सरकारी वकील रहे, 1971 में बार काउंसिल के लिए नामांकित

  • दिल्ली हाइकोर्ट-सुप्रीम कोर्ट में 16 साल तक प्रैक्टिस

  • राष्ट्रपति चुने गए तो उत्तर प्रदेश से दूसरे राष्ट्रपति

रामनाथ कोविंद का जन्म एक अक्टूबर 1945 को उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात में हुआ था।कोविंद ने कानपुर यूनिवर्सिटी से बीकॉम और एलएलबी की पढ़ाई की है।

गवर्नर ऑफ बिहार की वेबसाइट के मुताबिक कोविंद दिल्ली हाई कोर्ट में 1977 से 1979 तक केंद्र सरकार के वकील रहे थे।1980 से 1993 तक केंद्र सरकार के स्टैंडिग काउंसिल में थे।

दिल्ली हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में इन्होंने 16 साल तक प्रैक्टिस की, 1971 में दिल्ली बार काउंसिल के लिए नामांकित हुए थे।

1994 में कोविंद उत्तर प्रदेश से राज्यसभा के लिए सांसद चुने गए। वह 12 साल तक राज्यसभा सांसद रहे ।वे कई संसदीय समितियों के सदस्य भी रहे हैं ,ये समितियां हैं- आदिवासी, होम अफ़ेयर, पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस, सामाजिक न्याय, क़ानून न्याय व्यवस्था और राज्यसभा हाउस कमेटी के भी चेयरमैन रहे ।

सक्रिय सांसद रहे

कोविंद गवर्नर्स ऑफ इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट के भी सदस्य रहे हैं। 2002 में कोविंद ने संयुक्त राष्ट्र के महासभा को संबोधित किया।कोविंद ने कई देशों की यात्रा भी की है।

कोविंद की पहचान एक दलित चेहरे के रूप में अहम रही है ।छात्र जीवन में कोविंद ने अनुसूचित जाति, जनजाति और महिलाओं के लिए काम किया।

12 साल की सांसदी में कोविंद ने शिक्षा से जुड़े कई मुद्दों को उठाया, ऐसा कहा जाता है कि वकील रहने के दौरान कोविंद ने ग़रीब दलितों के लिए मुफ़्त में क़ानूनी लड़ाई लड़ी ।

कोविंद की शादी 30 मई 1974 को सविता कोविंद से हुई थी ।इनके एक बेटे प्रशांत हैं और बेटी का नाम स्वाति है ।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here