कश्मीर में सेना के हाथ खोले सरकार : स्वामी

0
53

विश्व संवाद केंद्र के कार्यक्रम में देहरादून पहुंचे भाजपा नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी

देहरादून : कश्मीर में आतंकवाद का खात्मा तभी संभव है जब सरकार सेना के हाथ पूरी तरह खोल दे।कट्टर हिंदुत्ववादी छवि वाले भाजपा के फायरब्रांड नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने यह बात देहरादून में कही।  नारद जयंती के अवसर पर रविवार कोविश्व संवाद केंद्र की ओर से  आयोजित नारद जयंती कार्यक्रम में बतौर मुख्यवक्ता शिरकत करने पहुंचे स्वामी ने नारद मुनि को पत्रकारिता जगत के आदिगुरू की संज्ञा देते हुए कहा कि सूचना के आदान प्रदान की कला को विकसित करने का श्रेय नारद मुनि को ही है।

इस अवसर पर उन्होंने कहा कि, ‘भारतीय संस्कृति विश्व की एक मात्र संस्कृति है जो एक हजार साल तक बाहरी आक्रमणकारियों के हमलों के बाद भी अटूट है। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने की।

स्वामी ने कहा कि कश्मीर में सेना को खुली छूट न होने का फायदा उठाकर ही वहां के अलगाववादी नेता युवाओं को भड़का कर सेना और पुलिस पर पथराव करवा रहें हैं। उन्होंने कश्मीर समस्या के लिए देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू को जिम्मेदार ठहराते हुए कहा कि, ‘नेहरू के जमाने से चली आ रही कश्मीर समस्या का हल कांग्रेस पार्टी साठ  साल देश पर राज करने के बाद भी नहीं निकाल सकी।

स्वामी  ने कहा कि देश को बचाए रखने के लिए सांस्कृतिक क्रान्ति की जरुरत है। राम मंदिर के मुद्दे पर बोलते हुए स्वामी ने कहा कि उन्होंने संविधान के आर्टिकल-25 के तहत सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की थी जो सुनवाई के लिए मंजूर की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि उन्हें पूरा भरोसा है कि  जनवरी 2018 तक राम मंदिर निर्माण का काम शरू हो जाएगा। इससे पहले भी स्वामी  कई मौकों पर राम मंदिर के पक्ष में मुखर होकर बोलते दिखाई दे चुके हैं।     

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here