बारातियों ने की हद पार, नाबालिग के साथ किया घिनौना काम

0
18

चंपावत में एक विवाह समारोह के जश्न के बीच दो लोगों ने 15 साल की किशोरी को गोशाला में बंद कर गैंगरेप कर दिया। गांव वालों ने दरवाजा तोड़कर किशोरी को बाहर निकाला। आरोपी अंधेरे का फायदा उठाकर भाग गए। पुलिस ने दो लोगों के खिलाफ गैंगरेप और पाक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

इस मामले में पुलिस और स्वास्थ्य महकमे की संवेदनहीनता उस समय सामने आई जब किशोरी के परिवार वाले रिपोर्ट लिखाने और मेडिकल के तीन दिन तक भटकते रहे।

एक गांव में 17 अप्रैल की रात अल्मोड़ा जिले के एक गांव से बारात आई थी। पूरा गांव जश्न में डूबा था। 15 साल की किशोरी अपनी सहेली के साथ गायों को घास देने गोशाला में गई थी। वहां अचानक दो बाराती भी पहुंच गए। उन्होंने दोनों को दबोच लिया।

सहेली तो चंगुल से निकलकर भाग गई मगर बारातियों ने किशोरी को गोशाला में बंद कर गैंगरेप कर दिया। सहेली ने बारात स्थल पर जाकर घर वालों की इसकी जानकारी दी तो वे दौड़कर गोशाला पहुंचे। उन्होंने दरवाजा तोड़कर किशोरी को आजाद कराया।

18 अप्रैल को किशोरी के घर वाले तहरीर लेकर पाटी ब्लॉक पहुंचे मगर पुलिस ने रिपोर्ट लिखने के बजाय उनसे मेडिकल करवाने को कह दिया। इसके बाद किशोरी को लेकर लोहाघाट सीएचसी ले जाया गया तो वहां से चंपावत जिला अस्पताल भेज दिया गया।

19 अप्रैल को जिला अस्पताल में डॉ. संगीता त्रिपाठी ने किशोरी का मेडिकल किया। कोतवाल बीसी शर्मा ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 376, 511, 342 के साथ ही 3/4 पॉक्सो एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here