साइबेरिया में ‘वाइफ टूरिज्म’ के नाम से चल रहा दुल्हनों का व्यापार

0
48

यूँ तो रूस की पहचान यहां के कई इलाकों में खून जमा देने वाली ठंड के रूप में ही होती है। लेकिन, इसकी दूसरी पहचान यहां की खूबसूरत लड़कियां भी हैं। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि इसी के चलते यहां दुनिया भर से लड़के दुल्हन की तलाश में भी पहुंचते हैं। खासतौर पर यहां चीन से अधिकतर युवा पहुंचते हैं।

चीन में सरकार की काफी समय से वन चाइल्ड की पॉलिसी रही। जिसके चलते यहां लड़कियों की संख्या में भी भारी कमी आ गई। आलम यह है कि चीनी लड़कों को शादी के लिए लड़कियां नहीं मिल रही है। इसी के चलते चीन में लड़कों को दुल्हन की तलाश में दूसरे देश जाना पड़ रहा है। आमतौर पर चीनी लड़के रूस के साइबेरिया ही पहुंचते हैं, क्योंकि यहां की लड़कियां खूबसूरत होती हैं। आपको जानकर आश्चर्य होगा कि रूस में तो अब यह बिजनेस बन चुका है। जिसे ‘वाइफ टूरिज्म’ भी कहा जाता है। इसके अलावा इसका एक कारण यह भी है कि कि रूस में लड़कों के मुकाबले लड़कियों की संख्या अधिक है।

यहां ऐसी कई लीगल मैरिज एजेंसियां हैं, जो लड़कों को उनकी मनपसंद लड़कियों से मिलाती हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, यहां बड़े-बड़े बिजनेसमैन भी खूबसूरत दुल्हन की तलाश में पहुंचते हैं। इसके लिए मैरिज एजेंसियों को लाखों रुपयों का पैमेंट भी करना होता है। आमतौर पर रशियन लड़कियां अपने ही देश में शादी करना पसंद करती हैं। इसलिए बाहरी लड़कों को ज्यादा मशक्कत करनी पड़ती है। दरअसल, रूस एक ठंडा देश है और बात अगर साइबेरिया की हो रही हो तो यहां की लड़कियां गर्म इलाकों में रहना पसंद ही नहीं करतीं। वैसे, रूस की कुछ मैरिज एजेंसीज की मानें तो यहां की सैकड़ों लड़कियां अब तक बाहरी लड़कों से शादी कर अपना घर बसा चुकी हैं। इतना ही नहीं, मैरिज एजेंसियां लड़कियों को इंप्रेस करने के लिए लड़कों को टिप्स भी देती हैं। लड़की और लड़का अगर एक-दूसरे को पसंद कर लेते हैं तो शादी के लिए पहले रूस का ही लीगल मैरिज सिस्टम अपनाना पड़ता है।

Loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here